Hindi News

Vera Birth Anniversary: गूगल ने शानदार डूडल बनाकर किया वेरा गेड्रो इट्स को याद

गूगल आज 19 अप्रैल को रूसी सर्जन, प्रोफेसर, कवि और लेखक डॉ. वेरा गेड्रोइट्स का 151 वां जन्मदिन मना रहे है. डॉ. गेड्रोइट्स को देश की पहली महिला सैन्य सर्जन और सर्जरी में दुनिया की पहली महिला प्रोफेसरों में से एक के रूप में श्रेय दिया जाता है. जिसने अपनी निर्भीक सेवा और चिकित्सा के क्षेत्र में नवाचारों के माध्यम से अनगिनत लोगों की जान बचाई.

वेरा इग्नाटिवेना गेड्रोइट्स का जन्म आज ही के दिन 19 अप्रैल 1870 को कीव के लिथुआनियाई शाही वंश के एक प्रमुख परिवार में हुआ था, जो तब रूसी साम्राज्य का हिस्सा था. अपनी किशोरावस्था में मेडिसिन की पढ़ाई करने के लिए उन्होंन रूस छोड़ दिया और स्विट्जरलैंड चली गईं. डॉ. गेड्रोइट्स 20 वीं शताब्दी के अंत में घर लौटीं और उन्होंने जल्द ही एक फैक्ट्री अस्पताल में सर्जन के रूप में अपना मेडिकल करियर शुरू किया.

1904 में जब रुसो-जापानी युद्ध शुरू हुआ, तो डॉ. गेड्रोइट्स ने रेड क्रॉस अस्पताल ट्रेन में एक सर्जन के रूप में स्वेच्छा से भाग लिया. दुश्मन के खतरे के दौरान उन्होंने कनवर्टेड रेलवे की कोच में जटिल पेट के ऑपरेशन इतनी अभूतपूर्व सफलता के साथ किए कि उनकी तकनीक को रूसी सरकार द्वारा नए मानक के रूप में अपनाया गया. युद्ध के मैदान में सेवा के बाद डॉ. गेड्रोइट्स ने रूसी शाही परिवार के लिए सर्जन के रूप में काम किया. वह 1929 में कीव विश्वविद्यालय में सर्जरी की प्रोफेसर नियुक्त हुईं.

उन्होंने एक प्रोफेसर के रूप में अपने समय के दौरान पोषण और शल्य चिकित्सा उपचार (nutrition and surgical treatments) पर कई चिकित्सा पत्र लिखे. 1931 के संस्मरण सहित “जीवन” शीर्षक से कई कविताएं और कई नॉनफ़िक्शन रचनाएं भी प्रकाशित कीं, जिसमें उनकी व्यक्तिगत यात्रा की कहानी बताई गई जिसके कारण 1904 में फ्रंट लाइन सामने की तर्ज पर उन्होंने अपनी सेवा दी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: